• Abhishek

Hamara Parichay Aisa Nahi Jo



हमारा परिचय ऐसा नहीं जो हर जगह मिलेगा,

जो जगह ख़ास होगी वहां हमारा निशाँ मिलेगा.


Hamara parichay aisa nahi jo har jagah milega,

jo jagah khaas hogi wahan hamara nishaan milega.



वो सोचते हैं की हम उनके काबिल नहीं,

उन्हें क्या पता तड़प रहे हैं वो जिन्हे हम हासिल नहीं.


Wo sochte hain ki hum unke kabil nahi,

unhe kya pata tadap rahe hain wo jinhe hum hasil nahi.

50 views

Related Posts

See All

Muskurane ka Man Kar Raha Hai

आज फिर मुस्कुराने का मन कर रहा है, बिना आग के ही लोगों को जलाने का मन कर रहा है! Aaj fir muskurane ka man kar raha hai, bina aag ke hi logon ko jalane ka man kar raha hai ! मैं जैसा भी हूँ ठीक हूँ, क्

Main Aag Lagane Ka Shauk

मैं आग लगाने का शौक बिल्कुल भी नहीं रखता, अब मेरे नाम से भी लोग जलें तो मैं क्या करूँ. Main aag lagane ka shauk bilkul bhi nahi rakhta, ab mere naam se bhi log jalen to main kya karun. दिल से लोग मुझे

Jaan Par Kyon Na Ban Aayi Ho

जान पर क्यों न बन आयी हो, पर जब झुकना नहीं आता तो झुके कैसे. Jaan par kyon na ban aayi ho, par jab jhukna nahi aata to jhuke kaise. जानना हो अगर हमारे बारे में, तो हमारे चाहने वालों से एक बार मिल लेना

Shayari Categories

Status Categories 

Follow Us
  • Facebook Basic Square
  • Instagram Social Icon
  • Pinterest Social Icon
  • Twitter Basic Square
  • Google+ Basic Square