• Abhishek

Dil Ki Zameen Par Kahin To Zakhm


दिल की ज़मीं पर कहीं तो ज़ख्म हुआ है क्योंकि,

सीने में दर्द होता है इसका आज मुझे पता चला,

एक भरम था मुझे कहीं न कहीं की वो अलग है सबसे पर,

उसके लिए मुझको भूलना कितना आसान है ये आज मुझे पता चला।


Dil ke zameen par kahin to zakhm hua hai kyonki,

seene mein dard hota hai iska aaj mujhe pata chala,

ek bharam tha mujhe kahin na kahin ki wo alag hai sabse par,

uske liye mujhko bhulna kitna aasan hai ye aaj mujhe pata chala.

457 views

Related Posts

See All

Muskurane ka Man Kar Raha Hai

आज फिर मुस्कुराने का मन कर रहा है, बिना आग के ही लोगों को जलाने का मन कर रहा है! Aaj fir muskurane ka man kar raha hai, bina aag ke hi logon ko jalane ka man kar raha hai ! मैं जैसा भी हूँ ठीक हूँ, क्

Shayari Categories

Status Categories 

Follow Us
  • Facebook Basic Square
  • Instagram Social Icon
  • Pinterest Social Icon
  • Twitter Basic Square
  • Google+ Basic Square