• Abhishek

Aise Kareeb Hain Wo Mere Jo

ऐसे करीब हैं वो मेरे जो दूर से भी दूर हैं,

अलग हो सकते हैं कभी भी बस अभी मज़बूर हैं। 😥😮


Aise kareeb hain wo mere jo door se bhi door hain.

alag ho sakte hain kabhi bhi bas abhi mazboor hain. 😥😮



महक आती है मुझे उसकी मेरे साँस लेने पर,

इतने नज़दीक आने के बाद उसने दूरियाँ बढ़ाई हैं। 😓😒


Mehak aati hai mujhe uski mere saans lene par.

itne nazdeek aane ke baad usne dooriyan badhai hain. 😓😒

699 views

Related Posts

See All

Muskurane ka Man Kar Raha Hai

आज फिर मुस्कुराने का मन कर रहा है, बिना आग के ही लोगों को जलाने का मन कर रहा है! Aaj fir muskurane ka man kar raha hai, bina aag ke hi logon ko jalane ka man kar raha hai ! मैं जैसा भी हूँ ठीक हूँ, क्

Shayari Categories

Status Categories 

Follow Us
  • Facebook Basic Square
  • Instagram Social Icon
  • Pinterest Social Icon
  • Twitter Basic Square
  • Google+ Basic Square